मोहल्ले वाला प्यार | Love Story in Hindi for Girlfriend 2024

मोहल्ले वाला प्यार | Love Story in Hindi for Girlfriend – दोस्तों आज की इस पोस्ट में आपको एक ऐसी लव स्टोरी के बारे में बताने जा रहा हूं जो आपको बहुत पसंद आएगी। यह लव स्टोरी कुछ ही दिनों पुरानी है। उस समय मेरी उम्र लगभग 20 वर्ष होगी। मैं एक ऑफिस में जॉब करता था। अच्छी सैलरी होने की वजह से मैंने एक नई कार खरीदी थी। मेरे मोहल्ले में कई सारी लड़कियां थी लेकिन मैं प्रियंका नाम की लड़की को पसंद करता था।

मोहल्ले वाला प्यार | Love Story in Hindi for Girlfriend –

मैं अपने घर से निकलकर नई कार से ऑफिस के लिए जा रहा था तभी एक लड़की हाथ के इशारे से मुझसे लिफ्ट मांगती है। वह लड़की कोई और नहीं बल्कि प्रियंका थी। मैं उसको देख कर कार रोक देता हूं और अंदर बैठने के लिए कहता हूं। वह मेरी और मुस्कुरा कर कार के अंदर बैठ जाती है। हम दोनों कार के अंदर बैठकर बातचीत करते हुए जा रहे थे। –

तभी मैंने प्रियंका से पूछा – आज इतना सज-धज कर कहां जा रही हो? तभी प्रियंका ने जवाब दिया – मैंने शहर में नई कंप्यूटर क्लासेज खोली है, वहां जा रही हूं। प्रियंका मेरी पीछे वाली सीट पर बैठी हुई थी। इसलिए मैंने कार में लगे सामने वाले कांच को उसकी तरफ घुमा दिया ताकि प्रियंका के चेहरे को आसानी से देख सकूं। उस दिन वह काफी खुश लग रही थी। मैं उसको बहुत प्यार करता था लेकिन कहने की हिम्मत नहीं कर रहा था। Love Story in Hindi for Girlfriend

प्रियंका के चेहरे को कांच में देखकर मैं कार चला रहा था तभी उसकी नजर कांच पर पड़ जाती है तो वह मुझसे बिना कुछ कहे सिर पर चुन्नी ओढ़ लेती है। मैं अच्छी तरह से समझ चुका था कि प्रियंका को कांच के बारे में पता चल गया है। लगभग आधे घंटे बाद हम दोनों शहर पहुंच जाते हैं और मैं कार को प्रियंका के कंप्यूटर क्लासेज ऑफिस की तरफ मोड़ देता हूं। तभी प्रियंका मुझसे कहती हैं – यहां पर ही उतार दो, यहां से मैं खुद चली जाऊंगी। तुम्हें परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। मैंने कहा – इसमें परेशानी की क्या बात है। कंप्यूटर क्लासेज तक मैं छोड़ देता हूं। Love Story in Hindi for Girlfriend

थोड़ी सी देर में प्रियंका की कंप्यूटर क्लासेज की ऑफिस पर पहुंच जाते हैं। प्रियंका गाड़ी से नीचे उतर जाती है। उतरते वक्त में सिर्फ उसे ही देख रहा था। वह भी मुझे नीचे उतरने के लिए कहती है। मैं अपनी कार से नीचे उतर कर उसके कंप्यूटर क्लासेज ऑफिस का नजारा देखने के लिए अंदर चला जाता हूं। वह ऑफिस के बारे में मुझे बता रही थी लेकिन मैं सिर्फ उसके चेहरे की ओर ही देख रहा था।

कुछ देर बातचीत करने के बाद वह मुझसे पूछने लगती है – तुम ऑफिस से घर के लिए रवाना कब होते हो? मैंने कहा – शाम 5:00 बजे बाद ऑफिस का काम खत्म करके घर के लिए रवाना हो जाता हूं। तभी प्रियंका कहती है – मुझे भी अपने साथ लेकर चलना क्योंकि मेरी क्लासेज की लास्ट क्लास 5:00 बजे तक है। Love Story in Hindi for Girlfriend

उसके बाद मैंने कहा – ठीक है। वापस आते समय मैं आपको घर साथ लेकर चलूंगा। उसके बाद मैं वहां से अपनी ऑफिस के लिए निकल जाता हूं लेकिन मुझे ऐसा लग रहा था कि मानो मेरा दिल प्रियंका के पास ही छूट गया हो। मेरा ऑफिस जाने का मन नहीं कर रहा था पता नहीं ऐसे लग रहा था कि मैं भी प्रियंका के साथ ही रहूं। ऑफिस देरी से पहुंचने के कारण बॉस ने मुझे डांट लगा दी।

दिनभर ऑफिस का काम करने के बाद मैं वहां से घर के लिए रवाना हो जाता हूं। मेरे ऑफिस से प्रियंका की कंप्यूटर क्लासेज का रास्ता लगभग 20 मिनट का था। मैं अपनी कार में गाने चलाते हुए उसकी ऑफिस पहुंच जाता हूं। कार को पार्किंग में लगाकर सीधा कंप्यूटर क्लासेज की ऑफिस के अंदर चला जाता हूं। वहां पर जाकर देखता हूं तो प्रियंका होठों पर लिपस्टिक लगा रही थी। उसको देख कर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने पूछ लिया – अब तो हम दोनों घर चल रहे हैं इतना सजने-संवरने की क्या जरूरत है? प्रियंका जवाब देती है – कुछ नहीं वैसे ही लगा रही हूं। Love Story in Hindi for Girlfriend

उसके बाद प्रियंका ऑफिस को बंद करके गाड़ी में आकर बैठ जाते हैं और हम दोनों घर के लिए रवाना हो जाते हैं। इस बार प्रियंका मेरी बगल वाली सीट पर बैठी हुई थी। मेरा मोबाइल कार मैं ही बॉक्स में पड़ा हुआ था। वह मेरा मोबाइल उठा कर मुझसे लॉक खोलने के लिए कहती है। मैं भी बिना कुछ सवाल जवाब किए मोबाइल का लॉक खोल कर उसको दे देता हूं। प्रियंका अपना मोबाइल नंबर मेरे मोबाइल में सेव कर देती है और कहती है – रोजाना तुम मुझे अपने साथ लेकर चलना अगर मुझे घर से निकलने में देरी हो जाए तो कॉल कर लेना। Love Story in Hindi for Girlfriend

मैंने हां में अपना सिर हिला दिया। अगले दिन मैं कार की जगह बाइक लेकर आ गया। प्रियंका पहले से ही रास्ते में मेरा इंतजार कर रही थी। मैं अपनी बाइक को प्रियंका के पास जाकर रोक देता हूं और बैठने के लिए कहता हूं। प्रियंका चुपचाप मेरे पीछे बाइक पर बैठ जाती है। लगभग आधा सफर खत्म हो चुका था लेकिन वह मुझसे बात नहीं कर रही थी। मैं सोच रहा था कि शायद बाइक लाने की वजह से वह मुझसे बातचीत नहीं कर रही है। Love Story in Hindi for Girlfriend

उसके मुंह से कुछ शब्द सुनने के लिए मैं सड़क पर बने ब्रेकर पर मैं जोरदार ब्रेक लगा देता हूं। इतने में ही प्रियंका मुझसे कहती हैं – इतना ब्रेक लगाने की क्या जरूरत है? मैं बिना कुछ कहे बाइक चला रहा था। मेरी कुछ ना बोलने के बाद वह वापस मुझसे कहती है – मुझे पता है तुम आज बाइक लेकर क्यों आए हो? मैंने कहा – पापा कार से कहीं जा रही थी इसलिए बाइक लेकर आए हूं। आप मेरे बारे में गलत सोच रही हो।

कुछ ही देर में प्रियंका की कंप्यूटर क्लासेज की ऑफिस पर पहुंच जाते हैं। मैं वहां उसको ड्रॉप करके सीधा ऑफिस पहुंच जाता हूं। ऑफिस पहुंचने के बाद मुझे याद आया कि मेरा मोबाइल प्रियंका के पास ही छूट गया है। आज मेरी ऑफिस में एक मीटिंग होने वाली थी और मीटिंग में पेश करने वाले प्रोजेक्ट की सारी जानकारी मेरे मोबाइल में ही थी। मैं सीधा बॉस के पास केबिन में जाता हूं और सारी बातें बता देता हूं। कुछ देर बॉस के द्वारा डांटने के बाद वह मुझे मोबाइल लाने के लिए कह देते हैं। Love Story in Hindi for Girlfriend

मैं वहां से अपनी बाइक स्टार्ट करके प्रियंका की ऑफिस पहुंच जाता हूं और अपना मोबाइल मांगने लगता हूं। मोबाइल मांगने पर प्रियंका साफ तौर पर मना कर देती है कि आपका मोबाइल मेरे पास नहीं है। इस बात को सुनकर मैं काफी घबरा गया क्योंकि अगर मैं समय पर वापस अपनी ऑफिस नहीं पहुंचा तो मुझे जॉब से निकाल दिया जाएगा। मैंने प्रियंका से कहा – मजाक मत करो, मोबाइल के अंदर होने वाली मीटिंग के प्रोजेक्ट का पूरा डाटा है। अगर मैं समय पर ऑफिस नहीं पहुंचा तो मुझे जॉब से निकाल देंगे।

Love Story in Hindi for Girlfriend
मोहल्ले वाला प्यार

जब मैं प्रियंका से बातें कर रहा था तो वह मंद-मंद मुस्कुरा रही थी। उसके मुस्कुराने से मैं समझ चुका था कि मोबाइल प्रियंका के पास ही है लेकिन वह मजाक कर रही है। कुछ देर समझाने के बाद वह मुझे मोबाइल दे देती है। मैं उसे थैंक यू बोल कर वहां से ऑफिस के लिए रवाना हो जाता हूं। इधर मेरे पहुंचने के तुरंत बाद मीटिंग स्टार्ट हो गई थी। बॉस गेट पर ही मेरा इंतजार कर रहे थे। उसके बाद मैं और बॉस दोनों मीटिंग के लिए अंदर एक कमरे में चले जाते हैं वहां पर पहले से ही हमारे सीनियर अधिकारी बैठे हुए थे। Love Story in Hindi for Girlfriend

सबसे पहले मैंने उनसे देरी से आने की वजह से माफी मांगी और अपना प्रोजेक्ट दिखाने लगा। मेरी प्रोजेक्ट को देखकर सीनियर अधिकारी काफी खुश हुए और मुझे Good Job! Well Done कहा। कुछ देर बाद मीटिंग खत्म हो जाती है। मैं अपने एक सीनियर अधिकारी के साथ कैंटीन में बैठा हुआ था। तभी सीनियर अधिकारी मुझसे कहता हैं – तुम्हारे इस प्रोजेक्ट की वजह से तुम्हें मैनेजर पद मिल सकता है। मैं तुम्हें मैनेजर पद दिलाने में अपनी तरफ से पूरी कोशिश करूंगा। उसके बाद मैंने थैंक यू सर कहा और वहां से घर के लिए रवाना हो गया।

आज मैं सीधा घर आ गया। घर आने के बाद प्रियंका ने मुझे कॉल करके कहा – कहां हो, मैं ऑफिस के बाहर तुम्हारा इंतजार कर रही हूं। मैंने कहा – मैं कुछ देर में आ रहा हूं, तुम ऑफिस के अंदर जाकर बैठो। तभी प्रियंका ने कहा – आज इतनी देर क्यों लगा दी। मैंने हंसते हुए जवाब दिया – तुम्हारे लिए घर कार लेने गया हूं। थोड़ा इंतजार करो मैं आ रहा हूं। मैं घर से कार स्टार्ट करके सीधा प्रियंका के ऑफिस पहुंच जाता हूं। Love Story in Hindi for Girlfriend

जैसे ही मैं प्रियंका को देखता हूं तो वह काफी नाराज लग रही थी। मैंने हंसते हुए कहा – ऑफिस आते समय बाइक लाने की वजह से तुम बहुत नाराज हो गई थी इसलिए घर कार लेने चला गया था।  प्रियंका ने कहा – कार तो तुम्हारे पापा लेकर गए थे तो तुम कार कहां से लाए हो? मैंने जवाब दिया – घर पहुंचने के तुरंत बाद ही पापा आ गए थे। सर्दियों का मौसम होने की वजह से हम दोनों को शहर में ही अंधेरा हो गया था।

मैं गेट के बाहर गाड़ी खड़ी करके प्रियंका के ऑफिस के अंदर चला गया। उस समय वहां पर कोई नहीं था क्योंकि सभी छात्र अपने-अपने घर जा चुके थे। प्रियंका कुर्सी पर बैठकर मोबाइल चला रही थी। प्रियंका को अकेला देखकर मैंने उसको प्रपोज कर दिया। तभी उसने कहा – हम दोनों सिर्फ दोस्त हैं, दोस्ती के अलावा हमारे बीच कुछ भी नहीं है।  मैंने कहा – प्रियंका मैं तुमको बहुत पहले से ही पसंद करता हूं लेकिन कहने की हिम्मत नहीं जुटा पाया था। Love Story in Hindi for Girlfriend

उसके बाद प्रियंका मुझको जवाब देती है – तुम पागल हो गए हो, जो ऐसी बातें कर रहे हो। मैं तुमसे प्यार नहीं करती हूं। उसकी इस बात को सुनकर मुझे धक्का सा लगा। मैं अंदर से काफी उदास हो गया था लेकिन उसके सामने मुस्कुराने की एक्टिंग करने लगा। कुछ देर बाद हम दोनों गाड़ी में बैठ कर घर आ जाते हैं। हमेशा की तरह प्रियंका रोजाना मेरे साथ कार में बैठकर ऑफिस जाती थी लेकिन मैं उससे बहुत कम बातचीत करता था।

एक दिन में अपने मकान की छत पर टहल रहा था तभी सामने वाले मकान की छत पर एक लड़की को टहलते हुए देखता हूं। शाम का समय था सूरज की लालीमा किरणें उसके माथे पर पड़ रही थी। वह लड़की देखने में बहुत खूबसूरत लग रही थी। प्रियंका के बाद मुझे वह लड़की पसंद आई थी। धीरे-धीरे मैंने उसके बारे में जानकारी हासिल की तो पता चला कि वह प्रियंका की बुआ की लड़की है। Love Story in Hindi for Girlfriend

मैं समय बर्बाद नहीं करना चाहता था इसलिए मैंने उससे बातचीत करना शुरू कर दिया। कुछ दिनों बाद मुझे पता चला कि उस लड़की का नाम रेणुका है और वह कक्षा 12 तक की पढ़ाई पूरी कर चुकी है। वह लड़की कंप्यूटर क्लासेज की पढ़ाई करने के लिए प्रियंका के घर रहने आई है। अब हम तीनों एक साथ गाड़ी में बैठ कर शहर जाते थे। रेणुका दिखने में बहुत ही साधारण लड़की थी। वह अधिकतर सलवार सूट पहना करती थी। धीरे-धीरे दोनों के बीच अच्छी दोस्ती हो गई लेकिन मैं दोस्ती तक सीमित नहीं था। Love Story in Hindi for Girlfriend

एक दिन मैंने रेणुका को प्रपोज कर दिया और उसने मेरे प्रपोजल को स्वीकार कर लिया। मैं अपने प्यार की सारी जानकारी प्रियंका को बताना चाहता था लेकिन रेणुका ने मुझसे मना कर दिया था। उसके बाद हम दोनों ने अपने मोबाइल नंबर एक्सचेंज कर ले और फिर देर रात तक व्हाट्सएप पर चैटिंग करने लगे। रात के समय जब हम दोनों व्हाट्सएप पर चैटिंग कर रही थी तब प्रियंका को पता चल गया। प्रियंका मुझे डराने धमकाने लगे की रेणुका प्यार क्या होता है इसके बारे में बिल्कुल भी नहीं जानती है।

मैंने कहा – रेणुका मुझसे प्यार करती है और मैं भी उससे अपनी जान से भी अधिक प्यार करता हूं। तभी प्रियंका ने जवाब दिया – तुम रेणुका को भूल जाओ नहीं तो मैं तुम्हारे घरवालों को बता दूंगी। मैंने कहा – घरवालों को बताने से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है। आप अभी जाकर सभी को बता सकती हो। प्रियंका मुझसे नाराज होकर वहां से चली जाती है। मैं तुरंत अपनी जेब से मोबाइल निकाल कर रेणुका को सारी बातें बता देता हूं। रेणुका को समझाता हूं कि तुम मेरी मां के पास आकर हमारे प्यार के बारे में बता देना। Love Story in Hindi for Girlfriend

कुछ देर में रेणुका हमारे घर आ जाती है और मेरी मां को सब कुछ बता देती है। रेणुका ने मेरी मां से कहा – हम दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते हैं लेकिन हम घरवालों की मर्जी के बिना शादी नहीं करेंगे। कुछ ही देर में मैं भी वहां पहुंच जाता हूं। मुझे देखकर मां मुझसे रेणुका के बारे में पूछने लगती है तो मैं भी हमारे प्यार के बारे में सच बता देता हूं। प्रियंका मेरे घर वालों से कुछ कहती उससे पहले ही मेरे मम्मी-पापा रेणुका के घर जाकर हमारे रिश्ते की बात कर लेते हैं। Love Story in Hindi for Girlfriend

मेरे पास अच्छी जॉब होने की वजह से रेणुका के पिताजी भी हमारी शादी कराने के लिए मान जाते हैं। दोनों परिवार की ओर से रिश्ता तय हो चुका था। अब मुझे और रेणुका को कोई भी परेशानी नहीं थी। कुछ दिनों बाद प्रियंका को शादी तय हो जाने की बात पता चलती है लेकिन अब कुछ भी नहीं होने वाला था। प्रियंका मेरी और रेणुका की शादी के खिलाफ थी इसलिए उसने रेणुका को मेरी और प्रियंका के साथ खींची हुई फोटो को बताया। ताकि रेणुका शादी करने से इंकार कर सकें। Love Story in Hindi for Girlfriend

लेकिन मैं रेणुका को अपने जीवन की सारी बातें पहले ही बता चुका था। जो फोटो प्रियंका ने रेणुका को दिखाई थी मैंने 1 माह पहले ही दिखा दिए थे। इसलिए रेणुका ने प्रियंका की किसी भी बात पर यकीन नहीं किया। कुछ ही दिनों बाद हमारी शादी हो गई। शादी हो जाने के बाद मैंने चैन की सांस ली और रेणुका को धन्यवाद दिया कि तुमने प्रियंका की एक भी बात नहीं सुनी।

दोस्तों, आज की यह Love Story in Hindi for Girlfriend आपको पसंद आई है, तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिल्कुल भी ना भूले और हमें कमेंट करके जरूर बताएं। इस प्रकार की और लव स्टोरी, कॉलेज की प्रेम कहानी, Love Story in Hindi for Girlfriend, सैड लव स्टोरी पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे।

यह भी पढ़ें – धोखेबाज की कहानी | Very Heart Touching Sad Love Story In Hindi

Most Romantic Collage Love Story In Hindi | रोमांटिक कॉलेज लव स्टोरी 2024

Cute and Romantic Heart Touching Love Story in Hindi

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button